how to make SEO friendly website in WordPress in Hindi 2020

how to make SEO friendly website in WordPress in Hindi 2020

BLOGGING

SEO कैसे करे और अपने blog की traffic बढ़ाये ? how to make SEO friendly website in WordPress in Hindi 2020

हेल्लो दोस्तों Technical Bihar में आपका स्वागत है ! आज के इस post मै आप सभी को बताने वाला हू की SEO कैसे करे अपने blog Website का जिससे आप के ब्लॉग वेबसाइट पर traffic आ सके मै इस पोस्ट के माध्यम से आप को लोगो को आछी तरह से बताने की कोसिस करूँगा, ताकि आप लोग बेहतर तरीके से समझ पाए और अपने वेबसाइट पर traffic ला सके अगर आप सीखना चाहते है, तो हमारे साथ बने रहे तो चलिए starts करते है !

एक बेगिन्नेर जो नया – नया blogging कर रहा है ! वो ये जरुर जानना चाहेगा कि seo कैसे करे या फिर अपने blog को SEO friendly कैसे बनांये, इस चीज़ को मै रोज देख रहा हू, की ये लोग इसी चीज़ के पीछे daily भाग रहे है |

एक चीज़ मैंने देखा की जब भी हमें कुछ चीज़ के विषय मै कुछ जानना होता है, या जानकारी चाहिय होती है, तब हम Google का इस्तेमाल करते है उसके विषय मै जानने के लिये वही Search करने पर हमें लाखो की मात्र मै रिजल्ट दिखाए पड़ते है ! लेकिन उनमे से जो सबसे बेहतर होते है, वो ही search engine के पहले place पाते है ! किया आप ने सोचा है ये kaise bna होता है !

अब सवाल उठता है, की गूगल या कोई दूसरा  Search Engine को कैसे पता चलता है, की इस content मै उचित जबाब है ! जिससे की इसे सबसे पहले मै रखना चाहिए,  बस यही पर ही SEO’s का concepts आता है.! यही SEO (search Engine Optimization ही है ! जो की आपके साईट के पेजेज को गूगल मै rank करवाता है |

अब यदि ऐसी बात है तब यह SEO को कैसे करे | इसका मतलब की SEO को कैसे किया जाता है जिससे की हम अपने blog के article को गूगल के पहले Page मै Rank करवा सके |

यदि आपके मन मै भी SEO क्या है और SEO कैसे करे से सम्बंदित कुछ भी सवाल है तब आज का यह लेख आपके लिये काफी जानकारी भरा होने वाला है| इस्सलिये हमारे साथ अंत तक बने रहे और SEO के विषय मै पूरी जानकारी details प्राप्त करे | तो फिर बिना देरी किये चलिए start करते है !

how to make SEO friendly website in WordPress in Hindi 2020

यहाँ भी पढ़े:-  hh id number search Allstate 2020

SEO क्या है

SEO का फुल फॉर्म होता है search Engine Optimization यह एक ऐसे process है जिसका इस्स्तेमल कर आप अपने blog का article का rank सर्च इंजन मै improve करा सकते है |

गूगल अपने सर्च results मै उन links को display करता है जिन्हें की वो consider करता है good content वाले है और उनमे जायदा authority होती है बंकिवो की तुलना मै |

अथॉरिटी का मतलब है की उस टॉप पेज के links से कितने पेजेज जुड़े हुए है जितनी जायदा pages जुड़े है जितनी जयदे pages उससे जुडी होंगी उतनी जयदे उस पेज की athuority भी होगी |

SEO का मुख काम ही होता है किसी भी ब्रांड की visiblity को बढ़ाये आर्गेनिक सर्च रिजल्ट्स मै इससे आसानी से वो ब्रांड को एक आचा एक्सपोज़र प्राप्त होता है साथ मै उसके आर्टिकल SERPs मै उपर रैंक होते है . जिससे जायदा converstions होने के चांस बढ़ जाते है |

सर्च इंजन ये कैसे पता करते है किस pages को ranks किया जाये ?

Search engines का बस एक ही उद्देश होता है उनका उद्देस होता है customer को उनके सवाल के सबसे बेहतर जबाब दिया जाये |

उसेर्स के लिये सही information का चुनाव करने के लिये सर्च एन्गींस मुख रूप से दो चीजों को जायदा analayze करते है |

ये दो चींजे है |

पहला है सर्च क्वेरी और पेज की conent के बिच क्या relation है

वही दूसरा है पेज की authority कितनी है

रेल्वंच्य के लिये सर्च इंजन इन्हें acess करता है दुसरे फैक्टर्स से जैसे की टॉपिक्स या केय्वोर्ड्स वही |

वही अथॉरिटी को musres किया जाता है वेबसाइट के पॉपुलैरिटी के हिसाब से गूगल ये अनुमान करता है की जितना जायदा कोई पेज या resource होगा internet पर तब उसमे उतने ही जायदा आचे कंटेंट भी होंगे readers के लिये |

वही ये सभी चीजों को analize करने के लिये ये सर्च एन्गींस काम्प्लेक्स एक़ुअतिओन्स का इस्ताम्मल करते है जिन्हें की सर्च algorithms कहा जाता है |

सर्च एन्गिनीस हमेसा काह्हेते हहै की उनके अल्गोरिथ्म्स को वो सीक्रेट ही रखे लेकिन समय के साथ साथ SEO ने कुछ ऐसे ही रैंकिंग factors के विषय मै जान लिया है जिससे की आप किसी पेज को Search Engine मै ranks करा सके |

इन्हें टिप्स को SEO stegary भी कहा जाता है |जिनका इस्तमाल कर आप अपने आर्टिकल को ranks करा सकते है |

SEO कैसे करे |

यदि आपको ये सीखना है की SEO कैसे करे तब इससे पहले आपको SEO के अलग अलग प्रकार के subject मै जानना होगा कही तब जाकर आप इन्हें सही दंग से करने मै ables बन सकते है

SEO कितने प्रकार के है ?

वेसे SEO के बहुत से प्रकार है लेकिन उनमे से भी मुख रूप से three types को जायदा importances दिया जाता है

1.on page SEO

2.off page SEO

3.technical SEO

यहाँ भी पढ़े :- vehicle registration details with address 2020

on-page optimizations:

इस प्रकार के ऑप्टिमाइजेशन मै pages के उपर जायदा ध्यान दिया जाता है ये ऑप्टिमाइजेशन करना पूरी तरह से हमारे controls मै होता है | इसके उन्तेर्गत कुछ चीज़े आती है जैसे की

A) हाई-क्वालिटी ,कीवर्ड- रिच content को tier करना

B) साथ ही Htmls को ऑप्टिमाइज़ करना,जिसके अंतर्गत टाइटल टैग्स , मेटा देस्क्रिप्तिओन्स , और सुभेअड्स etc आते है |

off-page optimizations

इस प्रकार का optimazation pages के बाहर ही किया जाता है | इस्सके अन्तेर्गत कुछ चीज़े आती है जैसे की बेक-लिंक,पेज रंक्स , बाउंस रेट्स etc

technical SEO :

ये उन factors को कहा जाता है जो की वेबसाइट के technical aspects पर असर डालती है जैसे की page load speeds , navigable sitemap , अम्प ,मोबाइल स्क्रीन डिस्प्ले etc .इन्हें ठीक तरीके से optimized करना बहुत ही आवासक होता है क्युकी ये आपके पेज rankings पर भी असर डालते है |

on पेज SEO कैसे करे :-

on पेज फैक्टर्स उन factors को कहा जाता है जो की आपके वेबसाइट के alements से जुड़े होते है on पेज फैक्टर्स के अंतर्गत technical सेट उप आपके कोड की quality–textual और विसुअल कंटेंट साथ ही आपके sites की यूजर – फ़्रिएन्द्लिनेस्स भी सामिल है .

हमें ये समझना चिहिए की on पेज techniques वो होते है जिन्हें की websites मै impliments किया जाता है websites की परफॉरमेंस और websites को बढ़ना के लिये |

यहाँ भी पढ़े :- mudra loan – mudra loan details in hindi 2020

चिलये अब कुछ ऐसे ही on-page techniques के subjects मै जानते है :-

1 meta Titles: ये आपकी वेबसाइट को discover करता है primary keyword की मदद से और ये 55-60 cherater के बिच ही होने चहिये , क्युकी इससे जयदे हुए तब ये गूगल सर्च मै hides हो सकता है |

2.meta Descriptions : ये वेबसाइट को difine करने मै मदद करती है | websites के प्रतेयेक pages की एक यूनिक मेटा discriptions होनी चिहिए | जो की सितेलिंक की helps करता है उन्हें ऑटोमेटिकली Serps’s मै shows करने के लिये |

3.Image Alt Tags : प्रत्येक websites मै images तो होते ही है लेकिन गूगल इन्हें समझ नहीं पता है इसलिए image के साथ हमें एक alternative text भी प्रदान करना चहिये जिससे की search engine भी इन्हें easily से समझ सके |

4 Header Tags : ये बहुत ही जरुरी होते है साथ मै पुरे pages को सही दंग से categorizes करने के लिये इनका बड़ा योगदान होता है H1 ,H2 etc |

5 sitemap :sitemaps का इस्तेमाल वेबसाइट pages मै call करने के लिये होता है जिससे की गूगल spulliers आसानी से आपके पेजेज को crowls कर उन्हें इंडेक्स कर सके |बहुत से अलग अलग sitemaps होते है |जैसे की sitemap.xml , sitemap.html ,रोर.xml , news sitemap , वीडियोस sitemap इमेज sitemap उर्ल्लिस्ट.txt etc |

6 रोबोट्स.txt : ये बहुत ही जरुरी होता है आपके websites को गूगल मै indexs करने के लिये जिन वेबसीतेस मै robot.txt होती है वो जल्द ही इंडेक्स हो जाते है

7 Internal linking : Interlinking बहुत ही जरुरी होते है websites मै आसानी से navigates करने के लिये pages के betweens |

8 Anchor text : आपकी एंकर texts और urls दोनों एक दुसरे के साथ मैच होने चिहिए ,इससे ranks करने मै आसानी होती है

9 यूआरएल स्ट्रक्चर : आपके वेबसाइट की यूआरएल स्ट्रक्चर ठीक होनी चाहिए , साथ मै ये seo-friendly भी होनी चहिये जिससे की इन्हें एअसिल्य रैंक कराया जा सके , साथ मै प्रत्येक urls मै एक टार्गेटेड कीवर्ड होनी चिह्ये इसका मतलब की आपकी आपके यूआरएल के साथ collaps करनी चहिए |

10 मोबाइल-फ्रेंडली : कोसिस करे अपने वेबसाइट को mobile-frendly बनाने के लिये क्युकी आजकल प्रयः लोग मोबाइल का इस्तेमाल करते है internets इस्तेमाल करने के लिये |

how to make SEO friendly website in WordPress in Hindi 2020

off page seo कैसे करे

वही दूसरी और आती है off-page फैक्टर्स , जैसे की दुसरे वेबसीतेस से लिनक्स , सोशल मीडिया की अटेंशन और दुसरे मार्केटिंग अच्तिवितेस जो की आपके वेबसाइट से अलग हो इसमें आप क्वालिटी backlinks के उपाय जायदा देना होता है जिससे की आप अपने websites के authority को बड़ा सके |

एक बात आपको यहाँ समझना होगा की off-पेज का मतलब केवल लिंक बिल्डिंग नहीं होता है बल्कि इसके साथ ये फराश कंटेंट पर भी जोर देता है जितना जयदे और बढ़िया contents  आप अपने विएवेर्र्स को प्रदान करेंगे उतनी ही जयदे आपके websites को google भी पसंद करेंगा |

Content :

यदि आपके websites मै जायदा फ्रेश contents होंगे तब ये गूगल को जायदा allows करेंगे हमेसा आपके wesites को क्रॉल करने के लिये फ्रेश contents के लिये |साथ मै आपके content मे अनिन्ग्फ़ुल भी होने चहिए जिससे की ये आपके टारगेट audiencs को सही values कर सके |

Keywords :सही केय्वोर्ड्स का चयन बहुत ही जरुरी होता है serps मै rank करने के लिये.इसके आपको इन keywords को content के साथ optimize करना चाहिए जिससे की keyword stuffing का खतरा न हो और आपके articles सभी ranks हो जाये |

Long-tails :जब बात केय्वोर्ड्स की आती है तब हम लॉन्ग tails keywords को कैसे भूल सकते है | चूँकि शोर्ट केय्वोर्ड्स मै रैंक करा पाना इतना आसन नहीं होता है इस्सलिये इसके जगह मै आप लॉन्ग tails keywords का इस्तेमाल कर सकते है जिससे इन्हें ranks करने मै आसानी हो |

LSI :

लसी keywords वो होते है जो मैं keywords से बहुत ही जायदा similars होते है इस्सलिये अगर आप इन lsi keywords का इस्तेमाल करेंगे तब विएवेर्स आसानी से आपके contents तक पहुच सकते है जब वो कोई पर्टिकुलर keywords को सर्च कर रहे हो तब |

Brokenlinks:

इन links को यथा संभव निकाल फेकना चाहिए | अन्न्येथा ये ख़राब impressions प्रदान करता है |

गेस्ट ब्लॉग्गिंग :

ये एक बहुत ही बंधिया तरीका है दो-फ्ल्लो backlinks बनाने का , इससे दोनों ही ब्लोग्गेर्स को फायदे प्राप्त होता है |

इन्फोग्रफिच्स :

इससे आप अपने viewer को अपने कंटेंट विसुअल्ली शो कर सकते है जिससे उन्हें जायदा समझ मै आता है साथ मै वो इन्हें शेयर भी कर सकते है |

Conclusion :

तो मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख SEO कैसे करे जरुर पसंद आई होगी | मेरी हमेसा से यही कोसिस रहती है की रीडर्स को SEO के विषय मै पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites या इन्टरनेट मै उस articles के संदर्व मै searchs की जरुरत ही नहीं है |

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह मै उन्हें सभी informations भी मिल जायेंगे यदि आपके मन मै इस  articles को लेकर कोई भी doubts है या आप चाहते है  की इसमें कुछ सुधर होनी चिहिए तब इसके लिये आप निचे comments लिख सखते है |

how to make SEO friendly website in WordPress in Hindi 2020

यदि आपको यह पोस्ट seo कैसे करे हिंदी मै पसंद आया या कुछ सीखना को मिला तब कृपया इस पोस्ट को सोशल network जैसे की फेसबुक , गूगल + और ट्विटर इतियादी पर शेयर कीजिये और कमेन्ट में जरुर बताये !

यहाँ भी पढ़े :- Elabharthi online portal Bihar

यहाँ भी पढ़े :- sukanya samriddhi yojana Hindi

Leave a Reply